Phooladhar Valley Near Barot Valley Distt. Mandi Himachal Pradesh

Beautiful Tourist Place - Phooladhar Valley - Near Barot Valley Distt. Mandi Himachal Pradesh


दोस्तों यूं तो पर्यटन की दृष्टि से हिमाचल प्रदेश में बहुत सारे ऐसे क्षेत्र हैं जो कि देश भर में ही नहीं विदेशों में भी प्रसिद्ध है लेकिन जिस स्थान के बारे में मैं आपको बताने जा रहा हूं वह भी अपने आप में एक अनूठा स्थान है और यहां की सुंदरता आपके मन को मोह लेगी

इस क्षेत्र का आपको शायद ही कहीं पर व्याख्यान मिले लेकिन हमने कुछ फोटो डाले हैं जिससे आपको पता चल जाएगा कि यहां जगह कितनी सुंदर है इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि इस जगह पर आप किस तरह से आ सकते हैं और यहां पर आने का खर्चा भी कम ही है वह भी हम इस पोस्ट में आपको बताएंगे और आप यहां पर एंजॉय कर सकते हो






मंडी से पहले आप घटासनी नामक स्थान पर आएंगे जो कि मंडी पठानकोट रोड नेशनल हाईवे पर है मंडी से घटासनी 43 किलोमीटर है घटासनी से आप बरोट रोड पर जाएंगे जो कि लिंक रोड है यहां बीच में आपको झटिंगरी नामक स्थान पड़ेगा, आपने बरोट रोड पर नहीं जाना है, परंतु आप झटिंगरी से लिंक रोड पर जाएंगे और फुलाधार पर पहुंचेंगे घटासनी से फुलाधार की दूरी मात्र 7 किलोमीटर है

यदि आप पठानकोट की ओर से आ रहे हैं पठानकोट से घटासनी की दूरी 165 किलोमीटर है तो बीच में पालमपुर नामक स्थान पड़ेगा पालमपुर से इस स्थान की दूरी 58 किलोमीटर है और पालमपुर से आगे जोगिंदर नगर नामक स्थान पड़ेगा जहां से इस स्थान की दूरी 20 किलोमीटर है यहां से आते हुए भी आप घटासनी से वाया झटिंगरी फुलाधार पहुंचेंगे 

यदि आप दिल्ली से आ रहे हैं तो आप वाया मंडी बस स्टैंड होकर आएंगे दिल्ली से आप वोल्वो से आ सकते हैं जो आपको सीधा बस मिलेगी वह आपको वोल्वो बस मिलेगी जो कि शाम को 9:00 बजे के करीब दिल्ली से चलती है इसके टाइम का पता कर ले कई बार आगे पीछे भी हो जाता है यह आपको घटासनी नामक स्थान पर सुबह 7:00 बजे पहुंचा देगी ।
यदि आपको यह वोल्वो बस नहीं मिलती है तो आप दिल्ली से मनाली की कोई भी वोल्वो बस ले लें और मंडी बस स्टैंड में उतर जाए, मनाली आगे है आपको मनाली नहीं जाना है आपको मंडी बस स्टैंड में उतर जाना है और वहां से मंडी पठानकोट नेशनल हाईवे के लिए आपको कोई भी बस मिल जाएगी आपने घटासनी नामक स्थान पर आना है जो की मंडी से 43 किलोमीटर है
फिर घटासनी नामक स्थान से फुलाधार 7 किलोमीटर रह जाता है जो कि लिंक रोड है


रहने और खाने पीने के लिए सलाह

जी हां दोस्तों कहीं पर आप घूमने जा रहे हैं तो यदि रहने और खाने-पीने का अच्छा इंतजाम ना हो तो घूमने फिरने का मजा ही खराब हो जाता है
यहां पर रहने के लिए कैंपिंग है और होटल एंड रिजॉर्ट्स है इनकी आपको आने से पहले ही बुकिंग करवा लेनी होगी यदि आप पहले ही बुकिंग नहीं करवाते हैं तो यहां पर रहने की प्रॉब्लम आ सकती है तो इसलिए आप पहले से ही एडवांस में बुकिंग करवा लें

Sight seeing
नजदीक में घूमने योग्य स्थान
फुलाधार अपने आप में एक बहुत सुंदर स्थान है जो कि हर व्यक्ति का मन मोह लेता है इसके साथ-साथ आप यहां पर नजदीक के अन्य सुंदर स्थानों पर भी जा सकते हैं जैसे कि डायना पार्क, बरोट वैली, बीड़ बिलिंग, पराशर झील जो कि अपने आप में एक अनूठी झील है आइए आपको एक-एक करके इन स्थानों का महत्व बताते हैं

बीड़ बिलिंग : बीड़ बिलिंग स्थान पूरे विश्व में पैराग्लाइडिंग के लिए प्रसिद्ध है यहां पर हर वर्ष विश्व की पैराग्लाइडिंग चैंपियनशिप होती है जो कि नवंबर माह के लगभग होती है पूरे विश्व में यहां पैराग्लाइडिंग की एक ऐसी रेंज है जिसमें बीड़ बिलिंग से लेकर फुलाधार डायना पार्क तक का स्थान आता है जो कि बहुत ही सुंदर है


Prashar Lake - पराशर झील
                          Prashar Lake
पराशर झील : पराशर झील को महाभारत से जोड़ा जाता है क्योंकि यहां पर महाभारत में जो पराशर ऋषि हैं उन्होंने यहां आकर तपस्या की थी और अभी भी उनका मंदिर यहां पर है इस झील की सुंदरता देखते ही बनती है इसके बीच में जो भूखंड का टुकड़ा है वह आस-पास तैरता रहता है और इसकी गहराई आज तक कोई भी माप नहीं पाया बहुत से राजाओं ने भी कोशिश की थी इसकी गहराई को मापने की बहुत से साइंटिस्ट भी इस झील में आकर के इसकी गहराई को माप नहीं पाए हैं यह एक अपने आप में चमत्कार ही है कि इस झील में साल भर पानी रहता है यहां पर देवता श्री पराशर ऋषि जी का मंदिर भी है यदि आप यहां पर सच्चे मन से कोई मनोकामना मांगते हैं तो वह जरूर पूरी होती है मान्यता है कि जो यहां पर मंदिर है उसे सतयुग में एक बच्चे ने बनाया था और यह मंदिर सिर्फ एक पेड़ को तराश कर बनाया गया है ।

नोट : यहां पर मासिक धर्म वाली औरतों का झील और मंदिर में आना सख्त मना है । 


बरोट वैली
                       Barot Valley
बरोट वैली : देवदार के पेड़ों से घिरा बरोट गांव एक बहुत ही सुंदर गांव है यहां पर भारतवर्ष से लगभग हर जगह से पर्यटक आते हैं हालांकि यह कुल्लू मनाली की तरह प्रसिद्ध नहीं है लेकिन कुल्लू मनाली की तरह ही यहां पर मनमोहक दृश्य है और यहां पर भीड़ भी बहुत कम होती है इसलिए घूमने फिरने का मजा ही कुछ और है
यहां पर शानन पावर प्रोजेक्ट का बांध है जिसकी बिजली जोगिंदर नगर में तैयार होती है यह प्रोजेक्ट 1928 में बना था और इसके बांध की जो झील बनी है यह बरोट वैली को चार चांद लगा देती है पहाड़ों के बीच में यह झील अपने आप में एक अनूठी सुंदरता की मिसाल है यहां की यादें आपको जीवन भर एक अलग ही एहसास दिलाएगी


लोहारडी 
                                   लोहारडी












यहां पर घूमने के लिए संपर्क करें

Dev Bhumi Tour and Travels 
Mob Number : 9736486827



Post a Comment

0 Comments