हिमाचल प्रदेश के लोगों को बड़ी राहत, जिले में बिना पास से कर सकेंगे आवाजाही, पढ़ें पूरी खबर

जिले में बिना पास से कर सकेंगे आवाजाही हिमाचल सरकार ने दी बड़ी राहत

कर्फ्यू में मिली और ढील

हिमाचल में कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के साथ कर्फ्यू है राज्य में बिना पास वाहनों की आवाजाही की अनुमति नहीं है

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को पुलिस अध्यक्षों उपायुक्तों और राज्य के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा
हिमाचल में 17 मई से 7 घंटे की कर्फ्यू डील में बिना पास जिले में पैदल या निजी वाहन से लोग आवाजाही कर सकेंगे दूसरे जिले में जाने के लिए कर्फ्यू पास होना जरूरी है सोलन के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में यह आदेश लागू नहीं होंगे

 बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को क्वारन्टीन करने का फैसला सरकार ने 1 दिन बाद ही पलट दिया अब सिर्फ रेड जोन से लौटने वाले लोग ही बॉर्डर पर क्वारन्टीन होंगे जबकि अन्य जॉन से आने वाले लोगों को डॉक्टर जांच करने के बाद फैसला लेंगे 
 

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा की अधिक संख्या में लोग रेड जोन क्षेत्रों से आएंगे इसलिए उन्हें क्वारन्टीन सुविधा की आवश्यकता होगी 

जयराम ठाकुर ने उपायुक्तों को निर्देश दिए कि वे लोगों की सुविधा की पहचान करें और उन्हें बताएं यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि जहां पर उन्हें रखा जा रहा है यह लोगों की पहुंच से दूर हो और उनमें सुलभ शौचालय हो

 रेड जोन से आने वाले सभी लोग जोकि बुखार इत्यादि लक्षणों वाले हो उन्हें भी बहुत ही अलग करके क्वारन्टीन रखा जाए जयराम ठाकुर ने कहा कि जिन घरों में लोग क्वॉरेंटाइन हैं ऐसे घरों पर नजर रखने के लिए पंचायती राज संस्थाओं स्वास्थ्य कर्मियों के प्रतिनिधियों को शामिल रखें और लोग भी उनके बारे में बताएं कि कहीं वह किसी से मिलजुल तो नहीं रहे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी
  हिमाचल की जनता भी इसके लिए साथ दें और साथ में जो लोग घर में क्वारन्टीन है उन्हें अच्छी सुविधाएं दें

कोरोनावायरस से बचाव के लिए हिमाचल के सरकारी और निजी स्कूलों को अभी तक सरकार खोलने का जोखिम नहीं उठाना चाहती है ऐसे में स्कूलों को 31 मई तक बंद रखने का फैसला कर दिया है कॉलेजों को 25 मई से होने वाली छुट्टियों को 18 मई से 10 जून तक देने का विचार विमर्श किया जा रहा है

इन छुट्टियों के समाप्त होते ही कॉलेजों में परीक्षाएं होंगी शिक्षा विभाग ने 17 मई को लोक डाउन समाप्त होने के बाद शैक्षणिक गतिविधियां शुरू करने के लिए एग्जिट प्लान शुरू कर लिया है 13 मई को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को अंतिम मंजूरी दी जाएगी ।

Post a Comment

0 Comments